Home Festivals Holashtak 2022 Date Kab se Kab Tak Hai | होलाष्टक 2022 में कब से कब तक

Holashtak 2022 Date Kab se Kab Tak Hai | होलाष्टक 2022 में कब से कब तक

Holashtak 2022 Date Kab se Kab Tak Hai | होलाष्टक 2022 में कब से कब तक
Holashtak 2022 Date Kab se Kab Tak Hai | होलाष्टक 2022 में कब से कब तक

Holashtak 2022 Date : शास्त्रों के अनुसार फाल्गुन मास की पूर्णिमा तिथि को होली मनाया जाता है। फाल्गुन मास की अष्टमी से होलिका दहन आठ दिनों तक होलाष्टक रहता है जिस दौरान मांगलिक और शुभ कार्य नहीं किये जाते है लेकिन देवी-देवता की आराधना के लिए यह बहुत ही शुभकारी दिन माने जाते हैं। होलाष्टक होली के आठ दिन पहले शुरू होते है। आज इस लेख में आपको साल 2022 में होलाष्टक कब से कब तक रहेंगे और इस दौरान से कार्य वर्जित माने जाते है इस बारे में बताएँगे।

Holashtak 2022 Date Kab se Kab Tak Hai | होलाष्टक 2022 में कब से कब तक
Holashtak 2022 Date Kab se Kab Tak Hai | होलाष्टक 2022 में कब से कब तक

होलाष्टक 2022 में कब से कब तक (Holashtak 2022 Start Date Kab se Kab Tak Hai)

फाल्गुन मास की पूर्णिमा के दिन होलिका दहन किया जायेगा होली पर्व का आगमन होलाष्टक के साथ ही पता चलता है इस लिए होलाष्टक होली पर्व की सूचना लकेर आने वाला एक हरकारा भी कहा जाता है। होलाष्टक से होली और होलिका दहन की तैयारी शुरू हो जाता है। साल 2022 में होलाष्टक 10 मार्च 2022 गुरुवार से 17 मार्च 2022 तक रहेंगे।

होलाष्टक में क्यों नहीं किये जाते है शुभ कार्य

होलाष्टक के आठ दिनों में शुभ कार्य नहीं करने के पीछे पौराणिक कथा है। जिसके अनुसार कामदेव द्वारा भगवान शिव की तपस्या भंग करने के कारण फाल्गुन शुक्ल अष्टमी तिथि पर क्रोध में आकर भगवान शिव ने कामदेव को भस्म किया था।

एक अन्य कथा के अनुसार राजा हिरण्यकश्यप ने अपनी बहन होलिका के साथ मिलकर पुत्र प्रह्लाद को भगवान विष्णु की शक्ति से दूर करने के लिए इन आठ दिनों में कठिन यातनाएं दी इसलिए होलाष्टक कल को विवाह, गृह प्रवेश, मुंडन समारोह आदि जैसे शुभ कार्यों को करने के लिए अशुभ माना जाता है।

होलाष्टक के दौरान क्या करें (Holashtak ke dauran kya kren)

शास्त्रों के अनुसार होलाष्टक के दौरान भले ही शुभ कार्यों को करने की मनाही होती है लेकिन होलाष्टक के इन 8 दिनों में आपको अपने आराध्य देव की पूजा अर्चना करना चाहिए। क्योंकि इस समय किए गए व्रत, उपवास का पुण्य कही अधिक होता है इसके साथ ही यदि आप होलाष्टक के इन 8 दिनों में धर्म-कर्म के कार्य, वस्त्र, अनाज व् अपनी इच्छा अनुसार जरूरतमंदों को कुछ दान करते है तो आपको इसके शुभ फल प्राप्त होते है।

होलाष्टक के दौरान क्या ना करें ((Holashtak ke dauran kya na kren)

  • फाल्गुन मास की शुक्ल पक्ष की अष्टमी से होलाष्टक लग जाते है और इस दौरान गृह अपना स्थान परिवर्तन करते है। जिस कारण इस समय विवाह, सगाई, मुंडन संस्कार जैसे शुभ कार्य नहीं करने चाहिएक्यों इन आठ दिनों में कोई भी शुभ मुहूर्त नहीं होता है। क्योकि इन आठ दिनों में कोई भी शुभ कार्य नहीं होता है।
  • होलाष्टक के इन आठ दिनों में नया घर खरीदना, भूमि पूजन व नए घर में प्रवेश करने जैसा कार्य भी नहीं करने चाहिए।
  • पौराणिक मान्यताओं के अनुसार होलाष्टकों में यानि कि फाल्गुन शुक्ल अष्टमी से प्रकृति में नकारात्मक ऊर्जा का संचार होता है इसलिए इस समय किसी भी तरह के नए काम न्य व्यापार की शुरुआत ना करें।

डिसक्लेमर: यहां बताई गई (Holashtak 2022 Date Kab se Kab Tak Hai) या किसी भी जानकारी/सामग्री/गणना की सटीकता या विश्वसनीयता की गारंटी नहीं है। विभिन्न माध्यमों/ज्योतिषियों/पंचांग/प्रवचनों/मान्यताओं/धर्मग्रंथों से संग्रहित कर ये जानकारियां आप तक पहुंचाई गई हैं। शुभ दिन पर व्यक्ति विशेष के लिए उसकी राशि के मुताबिक शुभ मुहूर्त क्या होगा, यह ज्योतिषाचार्य ही बता सकते हैं।

प्रिय पाठकगण,
आज के इस लेख में बस इतना ही था। हमे उम्मीद है की इनमें से सभी जानकरी आपको मिल गई होगी जैसे की Holashtak 2022 Date Kab se Kab Tak Hai, होलाष्टक 2022 में कब से कब तक, 2022 mein holashtak kab se hai, होलाष्टक कब है, holashtak date, holashtak katha, holashtak in hindi  

हम आशा करते है की हमारे द्वारा दी गई जानकारी से आप संतुष्ट हैं। अगर आपको ये लेख पसंद आई है तो हमें कमेंट करके अपनी प्रतिक्रिया हम तक जरूर पहुंचाए आपको ये लेख कैसा लगा  और आप इसे अपने दोस्तों के साथ जरुर FACEBOOK और TWITTER  एवं अन्य सोशल मीडिया पर SHARE कीजिये और ऐसे ही नई जानकारी पाने के लिए हमें SUBSCRIBE जरुर करे।

🙏 धन्यवाद 🙏

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

%d bloggers like this: