Home Festivals Magh Gupt Navratri 2022 | माघ गुप्त नवरात्रि कब है

Magh Gupt Navratri 2022 | माघ गुप्त नवरात्रि कब है

Magh Gupt Navratri 2022 | माघ गुप्त नवरात्रि कब है
Magh Gupt Navratri 2022 | गुप्त नवरात्रि कब है

Magh Gupt Navratri 2022 : शास्त्रों के अनुसार पुरे साल भर में चार बार नवरात्रि आती है, जिसमे दो सामान्य और दो गुप्त नवरात्रि होती है। देवी दुर्गा के नौ दिवसीय साधना का महापर्व माघ मास शुक्लपक्ष की प्रतिपदा यानि की 2 फरवरी बुधवार से शुरू हो रहा है। माघ के महीने में आने वाली नवरात्रि गुप्त नवरात्रि कहलाती है।

नवरात्रि के एक दिन पहले 1 फरवरी को मौनी अमावस्या मनाई जाएगी। आज इस लेख में हम आपको साल 2022 की पहली और माघ मास की गुप्त नवरात्रि की कलश स्थापना तिथि, शुभ मुहूर्त, पूजा विधि, महत्त्व और इस दिन किये जाने वाले कुछ उपायों के बारे में बताएँगे।

Magh Gupt Navratri 2022 | गुप्त नवरात्रि कब है
Magh Gupt Navratri 2022 | गुप्त नवरात्रि कब है

गुप्त नवरात्रि शुभ मुहूर्त 2022 (Gupt Navratri 2022 Date)

साल 2022 में गुप्त नवरात्रि का पर्व2 फरवरी बुधवार से शुरू होकर 10 फरवरी गुरुवार को इसका समापन होगा
घटस्थापना का शुभ मुहूर्त होगा2 फरवरी बुधवार सुबह 7 बजकर 9 मिनट से 8 बजकर 31 मिनट तक
प्रतिपदा तिथि प्रारंभ होगा1 फरवरी सुबह 11 बजकर 15 मिनट पर
प्रतिपदा तिथि समाप्त होगा2 फरवरी सुबह 8 बजकर 31 मिनट पर

गुप्त नवरात्रि पूजा विधि (gupt navratri puja vidhi)

चैत्र और शारदीय नवरात्रि की तरह गुप्त नवरात्रि में भी पहले दिन कलश स्थापना के बाद पूरे नौ दिनों तक 10 महाविद्या व् तंत्र साधना के लिए माँ काली, तारा देवी, त्रिपुरा सुंदरी, भुनेश्वरी, माता छिन्नमस्ता, त्रिपुर भैरवी, माँ धूपवती, माता बगलामुखी, मातंगी और कमला देवी की पूजा किया जाता है।

गुप्त नवरात्रि के दौरान की गयी पूजा को गोपनीय रखा जाता है। नवरात्रि के पहले दिन स्नान के बाद व्रत का संकल्प ले, पूजास्थल पर देवी दुर्गा की प्रतिकमा स्थापित कर उन्हें लाल रंग की चुनरी अर्पित करे और कलश स्थापना करें।

कलश स्थापना के लिए सबसे पहले एक मिटटी के बर्तन में जौ बो ले अब इसपर मंगल कलश स्थापित करें। मंगल कलश में गंगाजल, सिक्का आदि डालकर उसे शुभ मुहूर्त में आम्रपल्लव और श्रीफल रखकर स्थापित करें और सुबह-शाम देवी मंत्र जाप, चालीसा या सप्तशती का पाठ करें।

देवी माँ को दोनों वेला के समय लौंग और बताशे का भोग लगाये। गुप्त नवरात्रि के दौरान माँ को लाल रंग के फूल चढ़ाना सर्वोत्तम होता है मान्यता है की गुप्त नवरात्रि में गुप्त रूप से की गयी देवी आराधना जल्द ही फलीभूत होती है।

गुप्त नवरात्रि का महत्व (Gupt Navratri Significance)

मान्यता है की गुप्त नवरात्रि में बेहद कड़े नियमों का पालन करते हुए माँ की गुप्त साधना और व्रत रखा जाता है। यह नवरात्रि यांत्रिक सिद्धियों की पूजा के लिए सबसे उत्तम मानी गयी है। जिसमे पुरे नौ दिनों तक व्रत रखने के साथ ही साधक को नाम और अनाज का सेवन नहीं करना चाहिए।

ऐसी मान्यता है की गुप्त नवरात्रि में यदि जतदा प्रचार-प्रसार न करते हुए साधक द्वारा अपनी साधना को गुप्त रखा जाय तो साधक की मनोकामना और सफलता मिलने की सम्भावना उतनी ही ज्यादा बढ़ जाती है।

गुप्त नवरात्रि महाउपाय (gupt navratri upay)

शास्त्रों में ऐसी मान्यता है की यदि व्यक्ति के जीवन में किसी भी तरह की परेशानियां आ रही है या उसे किसी भी तरह की समस्या है तो गुप्त नवरात्रि में 10 महाविद्याओं की उपासना कर कुछ उपाय करने चाहिए तो आइये जानते है गुप्त नवरात्रि में माँ को प्रसन्न किये जाने वाले महाउपाय के बारे में…

  • गुप्त नवरात्रि के दौरान सर्वप्रथम स्नान कर पूजास्थल पर एक चौकी पर लाल रंग का कपड़ा बिछा ले अब इसपर 11 गोमती चक्र रखे। इसके बाद रुद्राक्ष या स्फटिक की माला से देवी माँ के “ऐं क्लीं श्रीं” मंत्र का 11 माला जाप करे। पूजा के बाद इन गोमती चक्रों को लाल रंग की पोटली में बांध कर तिजोरी में रख दें कहा जाता है कि इस उपाय को करने से व्यक्ति के जीवन में धन संबंधी परेशानियों का जल्दी अंत हो जाता है।
  • सुख, समृद्धि, सफलता, ख़ुशी और प्रेम के प्राप्ति के लिए गुप्त नवरात्रि में भगवान शिव माता पार्वती की पूजा करना शुभ होता है।

गुप्त नवरात्रि पूजा विधि डाउनलोड (gupt navaratri puja vidhi PDF download)

डिसक्लेमर: यहां बताई गई (Magh Gupt Navratri 2022) या किसी भी जानकारी/सामग्री/गणना की सटीकता या विश्वसनीयता की गारंटी नहीं है। विभिन्न माध्यमों/ज्योतिषियों/पंचांग/प्रवचनों/मान्यताओं/धर्मग्रंथों से संग्रहित कर ये जानकारियां आप तक पहुंचाई गई हैं। शुभ दिन पर व्यक्ति विशेष के लिए उसकी राशि के मुताबिक शुभ मुहूर्त क्या होगा, यह ज्योतिषाचार्य ही बता सकते हैं।

प्रिय पाठकगण,
आज के इस लेख में बस इतना ही था। हमे उम्मीद है की इनमें से सभी जानकरी आपको मिल गई होगी जैसे की Magh Gupt Navratri 2022, गुप्त नवरात्रि कब है, gupt navratri ka mahatva, gupt navratri puja vidhi in hindi, गुप्त नवरात्रि के उपाय 2022, गुप्त नवरात्रि में पूजा कैसे करें, गुप्त नवरात्रि के फायदे, गुप्त नवरात्रि 2022, गुप्त नवरात्रि का महत्व और माघ गुप्त नवरात्रि 2022  

हम आशा करते है की हमारे द्वारा दी गई जानकारी से आप संतुष्ट हैं। अगर आपको ये लेख पसंद आई है तो हमें कमेंट करके अपनी प्रतिक्रिया हम तक जरूर पहुंचाए आपको ये लेख कैसा लगा  और आप इसे अपने दोस्तों के साथ जरुर FACEBOOK और TWITTER  एवं अन्य सोशल मीडिया पर SHARE कीजिये और ऐसे ही नई जानकारी पाने के लिए हमें SUBSCRIBE जरुर करे।

🙏 धन्यवाद 🙏

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

%d bloggers like this: